Connect with us

Hi, what are you looking for?

new-year-kyu-manaya-jata-hai

ब्लॉग

New Year: न्यू ईयर क्यों मनाया जाता है?

New Year: न्यू ईयर क्यों मनाया जाता है?

new-year-kyu-manaya-jata-hai

नव वर्ष की पूर्व संध्या को सभी के द्वारा एक महत्वपूर्ण दिन माना जाता है। इसका एक मुख्य कारण नया शब्द का इसमें जुड़ना। हम जीवन में हमेशा नई चीजों को विशेष ध्यान और महत्व देते हैं। नए साल को मनाने में भी यही फार्मूला लागू होता है, क्योंकि नए साल में होने वाली नई चीजों का हम पर बहुत प्रभाव पड़ता है। हांलाकि हम में से कई लोगों के मन में यह सवाल नहीं होता है, लेकिन कुछ लोगों के मन में सवाल आता है कि हम नया साल इतनी धूम-धूम से क्यों मनाते हैं? हमारे मन भी यही सवाल आया इसलिए आज हम आपके साथ इसी सवाल पे चर्चा करने वाले हैं। चलिये जानते हैं कि New year: न्यू ईयर क्यों मनाया जाता है?

New Year: हम नया साल क्यों मनाते हैं?

घर पे लगी दीवार घड़ी उस समय ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाती है। जब साल की आखिरी रात हो जाती है। मात्र एक सेकेंड और हम नए साल में प्रवेश कर जाते हैं। वह क्षण और भी यादगार इसलिये हो जाता है क्योंकि यह न केवल तारीख और वर्ष को बदलता है जिसे हम 365 दिनों तक जीते हैं। यह कई लोगों के लिए महत्वपूर्ण पल होता है। क्योंकि यह शुरुआत का प्रतीक है। New year केवल उत्सवों और संकल्पों के बारे में नहीं है। यह कई नई शुरुआतों के लिए प्रेरणा का भी प्रतीक है।

वास्तव में, हम नया साल क्यों मनाते हैं, यह कई लोगों के लिए एक सवाल है। एक अध्यन में पाया गया कि “नए साल के दिन कुछ भी नहीं बदलता है।” साथ ही, नए साल के संकल्प कभी नए नहीं होते। वे वही पुराने संकल्प हैं जो उम्र से आ रहे हैं जैसे वजन कम करना, फिट रहना, कम खाना, लोगों के साथ बेहतर व्यवहार करना, बहुत सारे दोस्त बनाना, पैसे बचाना आदि। दिन के अंत में, हम जो कुछ भी करते हैं वह हमारे अपने अस्तित्व के लिए होता है। तो, इसे याद रखें और अपने संकल्पों को उसी के अनुसार लक्षित करें।

न्यू ईयर का क्या महत्व है? | Importance of new year

new-year-kyu-manaya-jata-hai

नए साल के सेलिब्रेशन का महत्व न केवल इस आधुनिक युग में है, बल्कि दशकों पहले से है। नए साल में हम जो भी परंपरा या संस्कृति का पालन करते हो चाहे वह आतिशबाजी हो, परिवार और दोस्तों के साथ बैठकर भोजन का आनंद लेना हो, संकल्प हो या कुछ और इसका एकमात्र इरादा अपने जीवन को नए सिरे से शुरु करना है। आने वाले वर्ष को समृद्ध वर्ष बनाने का है। इसलिए साल का पहला दिन हमेशा सभी द्वारा बहुत धूमधाम से मनाया जाता है।

न्यू ईयर मनाने की शुरुआत कब और कैसे हुई?

न्यू ईयर मनाने का सबसे पहला रिकार्ड चार हजार साल पहले प्राचीन बेबीलोनियों सें मिलता है। हांलाकि हमारी तरह वे नया साल नहीं मनाते थे। इसके बजाय, नए साल को वसंत विषुव में एक बड़े उत्सव के रूप में चिह्नित किया गया था। हममें से बाकी लोगों के लिए, यह वर्ष का वह बिंदु होता है जब दिन रात से बड़े होने लगते हैं। क्योंकि वे उत्तरी गोलार्ध में रहते थे, यह आमतौर पर मार्च के अंत में होता था। बेबीलोन के लोग पार्टी करना जानते थे। उन्होंने नए साल को ग्यारह दिन के उत्सव के रूप में मनान शुरु किया, जिसमें प्रत्येक दिन का एक अलग अनुष्ठान होता था। इसके बारे में और अधिक जानकारी तो नही है हमारे पास क्योंकि हर देश का नए साल मनाने का अपना अलग इतिहास है।

निष्कर्श

नया साल बेहतर के लिए बदलाव करने का एक सही समय है। नए साल के संकल्प करने की परंपरा पश्चिमी गोलार्ध में अधिक आम है, लेकिन पूर्वी गोलार्ध में भी मौजूद है। आज की पोस्ट में हमने आपको न्यू ईयर क्यों मनाया जाता है? इसके बारे में बताया है। हमारी यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं। अन्य किसी भी जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें।

धन्यवाद,

यह भी जानें

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like

ब्लॉग

Prerna Up:- शिक्षा व्यवस्था को सुधरने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा mission prerna up .in की शुरुआत की गयी थी। ये मिशन सफल...

लखनऊ

भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी lucknow है। जिसे दुनियाभर में नवाबों के शहर के नाम से जाना जाता है। लखनऊ...

ब्लॉग

चांद धरती से कितना दूर है| Chand dharti se kitna door hai? हम सभी जानते हैं कि आज चांद पर पहुंचना मात्र कल्पना नहीं...

ब्लॉग

आस-पास कहाँ-कहाँ रेस्टोरेंट मौजूद हैं- कैसे पता करें   आस-पास कहां-कहां रेस्टोरेंट मौजूद हैं और कैसे आप उन्हें खोज सकते है, इस आर्टिकल को...