Connect with us

Hi, what are you looking for?

chand-par-kaun-kaun-gaya-hai

ब्लॉग

चाँद पर कौन-कौन गया है? | chand par kon kon gaya hai

chand par kon kon gaya hai|चाँद पर कौन-कौन गया है?

इस लेख में हम आपको ये बताने वाले हैं की अभी तक chand par kon kon gaya hai, उनके नाम क्या है, उनकी राष्ट्रीयता क्या है और वो किस मिशन के तहत गए थे। इन सब की जानकारी के लिए पूरा आर्टिकल पढ़ें 

20 जुलाई सन् 1969, आज से लगभग 50 साल पहले ही मनुष्य जाति ने अपना पहला कदम चाँद पर रख दिया था। और जिस मिशन के तहत ये संभव हुआ है उस मिशन का नाम अपोलो 11 था।

चंद्रमा पर ले जाने वाले इस मिशन अपोलो 11 ने आगे आने वाले दशकों में अंतरिक्ष में होने वाले सभी प्रकार के अनुसंधानों के लिए दरवाजे खोल दिए। इस मिशन (अपोलो 11) के जरिये नील आर्मस्ट्रांग चाँद पर कदम रखने वाले विश्व के पहले व्यक्ति बन गए।

 संस्था का नाम  नासा
 मिशन का नाम  अपोलो 11
 दिनांक और वर्ष  20 जुलाई सन् 1969
 वैज्ञानिक का नाम  नील आर्मस्ट्रांग
 देश का नाम  संयुक्त राष्ट्र अमेरिका

चाँद पर कौन-कौन गया है और उन सभी के नाम क्या हैं ? 

चाँद पर आज तक अपोलो के कुल 11 मिशन में 27 अंतरिक्ष यात्री चाँद तक पहुंचे हैं जिनमे से 24 ने चाँद का चक्कर लगाया था , लेकिन केवल 12 ही ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने चाँद की साथ पर कदम रख पाए हैं चाँद पर कदम रखने वाले व्यक्तियों के नाम :-

 

 वैज्ञानिक नाम  मिशन  दिनांक
 नील आर्मस्ट्रांग  अपोलो 11  20 जुलाई सन् 1969
 बाज एल्ड्रिन  अपोलो 11  20 जुलाई सन् 1969
 पीठ काॅनराड  अपोलो 12  19-20 नवंबर सन् 1969
 एलन बीन  अपोलो 12  9-20 नवंबर सन् 1969
 एलन शेपर्ड  अपोलो 14  5-6 फरवरी सन् 1971
 एडगर मिशेल  अपोलो 14  5-6 फरवरी सन् 1971
 डेविड स्कॉट  अपोलो 15  31 जुलाई से 2 अगस्त सन् 1971
 जेम्स इरविन  अपोलो 15  31 जुलाई से 2 अगस्त सन् 1971
 जाॅन यंग  अपोलो 16  21 से 23 अप्रैल सन् 1972
 चार्ल्स ड्यूक  अपोलो 16  21 से 23 अप्रैल सन् 1972
 हैरिसन शमिट  अपोलो 17  11 से 14 दिसंबर सन् 1972
 जीन सर्नन  अपोलो 17  11 से 14 दिसंबर सन् 1972

 

नील आर्मस्ट्रांग (Neil Armstrong) 

चांद पर पैर रखने वाले पहले व्यक्ति हैं ये 20 जुलाई 1969 को अपोलो 11 मिशन के तहत चांद (Moon) पर गए थे। नील आर्मस्ट्रांग एक अमेरिकन नागरिक थे। वे एक विमान इंजिनियर, नौसेना के पायलट और आर्मस्ट्रांग अपोलो 11 के कमांडर भी थे।

बज़ एल्ड्रिन

अपोलो 11 मे बज़ एल्ड्रिन , नील आर्मस्ट्रांग के ठीक पीछे थे क्योंकि वे पहली बार Chand पर पैर रखने के लिए लूनर मॉड्यूल ईगल से बाहर निकले थे।

पीट कॉनराड

वह 19 नवम्बर 1969 के अपोलो 12 मिशन के चंद्रमा के कमांडर बने थे, विशेष रूप से एक नासमझ होने का उच्चारण करते हुए उन्होंने चन्द्रमा की मिट्टी को छुआ था।

एलन बीन

अपोलो 12 के चाँद मॉड्यूल के पायलट के रूप में एलन बीन 1981 में नासा के अंतरिक्ष यात्रियों को अपनी कला पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रशिक्षण से सेवानिवृत्त हुए

एलन शेपर्ड

अंतरिक्ष में जाने वाले दूसरे व्यक्ति और दूसरे अमेरिकी नागरिक थे।  वह अपोलो 14 मिशन के कमांडर के रूप में चंद्रमा पर पहुंचे।

एडगर मिशेल

वह अपोलो 14 के चंद्र मॉड्यूल पायलट थे, लेकिन बाद में यूएफओ पर अपनी मुखर राय के लिए कुख्याति प्राप्त की। 1972 में, उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ नॉएटिक साइंसेज की स्थापना की, जो “वस्तुनिष्ठ वैज्ञानिक उपकरणों और तकनीकों को एक साथ लाने पर केंद्रित है। 

 डेविड स्कॉट

ये एक सेवानिवृत्त परीक्षण पायलट और नासा के अंतरिक्ष यात्री हैं जो चंद्रमा पर चलने वाले सातवें व्यक्ति थे । एक कमांड मॉड्यूल पायलट के रूप में अपोलो 9 पर उड़ान भरने के बाद, वह अंततः 1971 में अपोलो 15 के साथ Chand पर पहुंच गए। 

जेम्स इरविन

विश्व के आठवें व्यक्ति हैं जो चाँद पर कदम रख चुके हैं। 31 जुलाई सन् 1971 को मिशन अपोलो 15 के अंतर्गत यह अंतरिक्ष में गए थे। अमेरिकी नागरिक जेम्स इरविन एक वैमानिक इंजीनियर होने के साथ अपोलो 15 के कमांडर भी रह चुके हैं। नासा के लिए काम करने के बाद सन् 1972 में यह रिटायर हो गए थे।

जॉन यंग

उन्होंने अपोलो 10 मिशन पर चाँद की परिक्रमा की और फिर 1972 में अपोलो 16 मिशन के कमांडर के रूप में चंद्रमा पर उतरे। उन्होंने 1981 में पहली बार अंतरिक्ष शटल उड़ान की भी कमान संभाली।

चार्ल्स ड्यूक

चार्ल्स ड्यूक एक अमेरिकी पूर्व अंतरिक्ष यात्री , अमेरिकी वायु सेना (USAF) अधिकारी और परीक्षण पायलट हैं । 1972 में अपोलो 16 के चंद्र मॉड्यूल पायलट के रूप में, वह 36 साल और 201 दिन की उम्र में चंद्रमा पर चलने वाले दसवें और सबसे कम उम्र के व्यक्ति बन गए।

युजिन सेरनन

एक भूविज्ञानी पहले, वह न केवल चंद्रमा पर बल्कि बाहरी अंतरिक्ष में भी पहले वैज्ञानिक थे। उनके पैर 1972 में चंद्रमा से टकराए जब उन्होंने अपोलो 17 के चंद्र मॉड्यूल पायलट के रूप में कार्य किया।

हैरिसन स्च्मित्त

दिसंबर 1972 में, अपोलो 17 के चालक दल में से एक के रूप में , श्मिट अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाले नासा के पहले वैज्ञानिक-अंतरिक्ष यात्री समूह के पहले सदस्य बने । जैसा कि अपोलो १७ अपोलो मिशनों में अंतिम था , वह चंद्रमा पर कदम रखने वाले बारहवें और दूसरे सबसे कम उम्र के व्यक्ति और चंद्रमा से उतरने वाले दूसरे-से-अंतिम व्यक्ति बन गए लेकिन 

FAQ

चाँद पर सबसे पहले कौन गया था?

Ans. चाँद पर सबसे पहले नील आर्मस्ट्रांग गए थे उन्होंने ही चाँद पर सबसे पहले चाँद पर कदम रखने का दर्जा हाशिल किया है। 

चाँद पर जाने में कितना समय लगता है?

Ans. चाँद पर जाने में लगभग 6 से 8 दिन लगते है. यह समय अलग अलग spacecraft पर भी निर्भर करता है।

पृथ्वी और चाँद के बीच की दूरी क्या है

Ans. पृथ्वी और चाँद के बीच 384400 km दुरी है।

चांद पर कितने लोग जा चुके हैं ?

Ans. चांद पर 12 लोग जा चुके हैं।

धन्यवाद

जॉनी डेप और एम्बर हर्ड केस

निर्जला एकादशी व्रत 2022: जानिये तिथि, शुभ मुहूर्त

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like

ब्लॉग

Prerna Up:- शिक्षा व्यवस्था को सुधरने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा mission prerna up .in की शुरुआत की गयी थी। ये मिशन सफल...

लखनऊ

भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी lucknow है। जिसे दुनियाभर में नवाबों के शहर के नाम से जाना जाता है। लखनऊ...

ब्लॉग

चांद धरती से कितना दूर है| Chand dharti se kitna door hai? हम सभी जानते हैं कि आज चांद पर पहुंचना मात्र कल्पना नहीं...

धर्म

Pradhan Mantri Awas Yojana 2022: आज इस लेख में हम विस्तार पूर्वक प्रधानमंत्री आवास योजना (pmay) के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। हम जानेंगे...