Connect with us

Hi, what are you looking for?

pet-ke-upari-hisse-me-dard-ke-karan (1)

हेल्थ

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण: Causes of Upper abdominal pain

पेट-के-ऊपरी-हिस्से-में-दर्द-के-कारण

पेट दर्द की समस्या हर उम्र के लोगों में होती है अक्सर हम इसे गैस समझकर नजरअंदाज कर देते हैं लेकिन अगर आपके पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द है तो यह कुछ गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। पेट का दर्द लोगों में आजकल आम समस्या है और लोग इसे मामूली समझकर घर में ही इसका उपचार करने लगते हैं। पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होना कई बार किसी गंभीर बीमारी का लक्षण हो सकता है आइये जानते है कि पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण क्या हो सकते हैं?

पेट दर्द बहुत ही आम समस्या है यह किसी बीमारी विशेष का संकेत नहीं होता है और ऐसा हम इसलिये कह रहे क्योंकि जब भी हमारे शरीर का कोई एक अंग प्रभावित होता है तो उसका असर शरीर के दूसरे अंगों पर भी पड़ता है।

पेट में दर्द के कई प्रकार है जैसे पेट के निचले हिस्से में दर्द, पेट के बाईं तरफ का दर्द, पेट के दाई तरफ का दर्द पर आज हम यहां बात कर रहे हैं पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण की तो यहां दर्द के अलग-अलग कारण हो सकते हैं। ये कारण कभी-कभी ज्यादा गंभीर होते हैं इसलिये कारण का जानना सबसे ज्यादा आवश्यक ताकि सही दिशा में उपचार किया जा सके। चलिये इन कारणों को विस्तार से समझते हैं।

ऊपरी पेट दर्द क्या है? What is upper abdominal pain?

pet-ke-upari-hisse-me-dard-ke-karan (2)

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द बॅाडी वाल, ब्लड वेसल्स, किडनी, हर्ट या लंग्स से जुड़ा हो सकता है। जब पेट या भोजन की नली में दर्द होता है तो यह अक्सर ऊपरी पेट में महसूस होता है। यह दर्द पित्ताशय की थैली में या लिवर में होता है। दर्द आंतो में हो सकता है जो कि सूजन या संक्रमण से संबंधित हो सकता है। कभी-कभी दिल के दौरे, निमोनिया या फुस्फुस की वजह से दर्द होता है जो पेट के ऊपरी हिस्से में भी महसूस किया जा सकता है।

अगर दर्द एक या दो दिन में ठीक नहीं होता है या फिर दर्द के साथ आपको खून की उल्टी, मल त्यागने में परेशानी या सांस लेने में कठिनाई हो तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण (Causes of upper abdominal pain)

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कई कारण होते है नीचे हम आपको ऐसे दस कारणों के बारे में बता रहे हैं

1- अपच (Indigestion)

अपच की समस्या मामूली है अपच होने पर पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होता है। अपच का मुख्य कारण है खाने को ठीक से चबाकर न खाना। ऐसी अपच के कारण पेट में दर्द के साथ जलन हो सकती है। इस दौरान पेट के ऊपरी हिस्से में या तो दोनो तरफ जलन हो सकती है।

2- गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (GERD)

गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (GERD) एसिड रिफ्लक्स है जो आपकी ऐसोफैगल लाइनिंग को परेशान करता है। इसमें आपको पेट से लेकर अपनी छाती तक भारीपन महसूस होता है जो गैस बनने के कारण होता है। इससे आपको पेट में ऊपरी दर्द महसूस हो सकता है। साथ ही इसमे आपको छाती में दर्द, निगलने में समस्या, खट्टी डकार और नींद में परेशानी हो सकती है।

3- इरिटेबल बॅावेल सिंड्रोम (IBS)

यह एक आम बीमारी है जो किसी को भी हो सकती है यह हमारी बड़ी आंत को प्रभावित करती है इसमे रोगी को पेट में दर्द और ऐंठन महसूस होती है साथ ही पेट के ऊपरी हिस्से में, दाएं या बाएं दर्द होता है या ये दर्द फैल भी सकता है। मरीज अक्सर ऐसे दर्द के बारे में ठीक से नहीं बता पाता। आईबीएस में आंतों में सूजन आ जाती है जिससे पाचन से संबंधित परेशानियां, ब्लॅाटिंग और कब्ज की समस्या भी होती है।

4- नाभि खिसकने पर (Navel displacement)

नाभि का हमारे पाचन तंत्र से गहरा संबंध है, इसलिए नाभि में किसी भी तरह के असंतुलन हमारे पेट दर्द का कारण बनती है। इसलिए नाभि खिसकने पर कई बार ऊपरी पेट में भी दर्द हो सकता है। हालांकि ये ध्यान दें तो, ये धीमे-धीमे घूमता रहता है पर आपके पेट के ऊपरी हिस्से में भी दर्द बनी रह सकती है। इसके साथ ही आपको खट्टी डकारें, अपच, कब्ज, दस्त आदि जैसे अलग-अलग लक्षण महसूस हो सकते हैं।

5- गैस्ट्राइटिस (Gastritis)

जो लोग शराब का सेवन ज्यादा करते है उन्हें गैस्ट्राइटिस की समस्या ज्यादा होती है। गैस्ट्राइटिस में पेट की परतों में सूजन हो जाती है अक्सर यह बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण होता है। अत्यधिक शराब पीने और नियमित रूप से पेन किलर्स जैसी दवाओं को उपयोग करने से भी गैस्ट्राइटिस जैसी समस्या हो सकती है। इसमे आपके पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द या जलन महसूस हो सकती है जो खाने के समय और बढ़ सकती है इसलिए गैस्ट्राइटिस से बचाव के लिए आपको ज्यादा तेल मसाला वाले भोजन को ग्रहण करने से बचना चाहिए और साथ ही एसिडिटी और दर्द निवारक दवाओं के सेवन से भी आपको बचना चाहिए।

6- गॉल ब्लैडर में पथरी (gall bladder stone)

पित्ताशय की थैली मे में पित्त से बने हुए कठोर पत्थर बन जाते है जिसे हम पथरी कहते हैं। पित्त एक द्रव है जिसे हम अंग्रेजी में बाइल जूस भी कहते है यह हमारे लीवर में बनता है और पित्ताशय में जमा होता है। खाने खाते समय आपकी पित्ताशय की थैली सिकुड़ती और जमा हुआ पित्त आपकी छोटी आंत में खाली कर देता है। पर जब यही पित्त ज्यादा बनने लगता है तो यह पथरी का रूप ले लेता है और इसका परिणाम यह होता है कि आपको पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होने लगता है। पित्ताशय की पथरी का दर्द असहनीय होता है और यह कई मिनटों से लेकर कुछ घंटो तक रहता है। अगर आपको पित्ताशय में पथरी की समस्या है तो आपको जल्द से जल्द डॅाक्टर से संपर्क करना चाहिए ज्यादातर ऐसी स्थिति में डॅाक्टर पित्ताशय की थैली हटाने का सुझाव देता है।

7- पेप्टिक अल्सर (Peptic ulcer)

पेप्टिक अल्सर एक घाव जैसा है जिस प्रकार आपके मुंह में छाले हो जाते हैं ठीक उसी प्रकार पेट के अंदर भी छाले या घाव हो जाते हैं। ये आपकी छोटी आंत के ऊपरी हिस्से या पेट की परत में हो सकता है। पेप्टिक अल्सर का कारण बैक्टीरियल इंफेक्शन या कुछ दर्द निवारक दवाओं का लंबे समय से उपयोग करना भी हो सकता है। इसमे आपको पेट में दर्द या जलन की समस्या महसूस हो सकती है।

8- लिवर से जुड़ी बीमारियों में दर्द (Liver diseases)

हेपेटाइटिस और लीवर एब्सेस यह दोनों लीवर से संबंधित समस्या है इन दोनों में ही आपके पेट के ऊपरी हिस्से या दाहिने हिस्से में दर्द हो सकता है। लीवर एब्सेस बहुत ही गंभीर समस्या है जिसमे लीवर में फोड़ा हो जाता है जिसकी वजह से लीवर डैमेज होने के चांसेज बढ़ जाते है।

9- फूड प्वाइजनिंग (Food poisoning)

दूषित भोजन खाने से आपको फूड प्वाइजनिंग की समस्या हो सकती है यह बहुत ही आम समस्या है। यह एक प्रकार का इंफेक्शन है जो बैक्टीरिया, वायरस या किसी भी पेस्टीसाइड के कारण हो सकता है। इसमे आपको पेट दर्द के साथ उल्टी और दस्त भी हो सकते हैं। फूड प्वाइजनिंग के लक्षण दिखने पर आपको तुरंत डॅाक्टर से संपर्क करना चाहिए।

10- पेनक्रिएटाइटिस (Pancreatitis)

यह एक ऐसी स्थिति है जब आपके पैनक्रियाज में सूजन आ जाती है। पैनक्रियाज एक ग्रंथी है जो पेट के ऊपरी हिस्से में पेट के पीछे पाई जाती है। ये कुछ ऐसे एंजाइम्स को पैदा करती है जो कि खाने को पचाने में मदद करते हैं साथ ही ये कुछ हार्मोन भी बनाता है जो आपके शरीर के ग्लूकोज को पचाने में मदद करते हैं। अत्यधिक शराब और धूम्रपान करने से पेनक्रिएटाइटिस हो सकता है।

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द में क्या करें क्या नहीं?

  • अधिक तला भुना मसालेदार खाने से बचे
  • ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन करें।
  • पेट की सिकाई करें
  • हल्के हाथों से मसाज करें
  • स्वस्थ जीवन शैली का पालन करें
  • नियमित रूप से व्यायाम करें
  • संतुलित आहार लें
  • सेंधा नमक के पानी से नहाना

डॅाक्टर से संपर्क कब करें?

निम्न परिस्थितियों में आपको तुरंत चिकित्सक के पास जाना चाहिए

  • अगर आप गर्भवती हैं
  • अगर आपको पेट दर्द के साथ खून की उल्टी हो रही है।
  • अगर आपको पेशाब या मल त्यागने में कठिनाई हो रही है।
  • आपके मल में खून आता है।
  • अगर आपको सांस लेने में समस्या आ रही है।
  • अगर आपको चेस्ट में पेन हो रहा है
  • आपको मधुमेह है और आपको उल्टियां हो रही है।

निष्कर्श

पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण कई हो सकते हैं जिनके बारे में हमने आपको इस लेख में बताया हैं। अगर आपको पेट दर्द का कारण नहीं पता और लक्षण एक सप्ताह से ज्यादा परेशान कर रहे हैं तो इसे नजरअंदाज न करें तुरंत अपने डॅाक्टर से संपर्क करें और अपना इलाज करवाएं। अगर आपको इस पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न है तो हमे कमेंट में बॅाक्स में जरूर लिखें।

धन्यवाद,

यह भी पढ़ें-

खांसी का धरेलू इलाज
प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You May Also Like

ब्लॉग

Prerna Up:- शिक्षा व्यवस्था को सुधरने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा mission prerna up .in की शुरुआत की गयी थी। ये मिशन सफल...

लखनऊ

भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी lucknow है। जिसे दुनियाभर में नवाबों के शहर के नाम से जाना जाता है। लखनऊ...

ब्लॉग

चांद धरती से कितना दूर है| Chand dharti se kitna door hai? हम सभी जानते हैं कि आज चांद पर पहुंचना मात्र कल्पना नहीं...

धर्म

Pradhan Mantri Awas Yojana 2022: आज इस लेख में हम विस्तार पूर्वक प्रधानमंत्री आवास योजना (pmay) के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे। हम जानेंगे...